FAKE ANTIVIRUS क्या है आप FAKE ANTIVIRUS से कैसे बच सकते है

Fake Antivirus kya hai

आज की इस दुनिया में internet के जरिये न जाने कितनी informations को एक device से दूसरी device तक पूरी दुनिया में भेजा जाता है। और इसी वजह से viruses, Trojans, malware, spyware का खतरा भी बढ़ जाता है। हमेशा internet पर ऑनलाइन होने की वजह से Fake Antivirus का भी खतरा बढ़ जाता है।

आज की दुनिया में Fake Antivirus भी काफी तेजी से सुनाई दे रही है Fake Antivirus की वजह से कुछ लोगों का Computer खराब हो चुका है लोग internet से फ्री का Antivirus Download कर लेते हैं जिसकी वजह से उनको और ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Fake Antivirus साइबर अपराधियों द्वारा यूज की जाने वाली हैकिंग की एक नई तकनीकी है जिसके द्वारा वह अपने टारगेट से पैसे निकलवाने की कोशिश करते हैं Fake Antivirus से अगर अपने टारगेट की Computer को Block कर देते हैं और फिर उसे Unblock करने के लिए पैसे की मांग करते हैं।

सुरक्षा को नजर रखते हुए अब ऑपरेटिंग सिस्टम भी Antivirus और firewall का ऑप्शन देती हैं ताकि आप अपने सुरक्षा को बरकरार रख सके लेकिन क्या होगा जब आप internet से एक Fake Antivirus Download करते हो और वह आपके ऑपरेटिंग सिस्टम का Antivirus और firewall को Block कर दे।

Fake Antivirus क्या है।

Fake Antivirus एक Software होता है जिसको एक असली Antivirus के रूप में प्रदर्शित किया जाता है इसका इस्तेमाल साइबर क्रिमिनल अपने टारगेट को फसाने के लिए करते है और जब उनका टारगेट उनकी जाल में फंस जाता है तब वह अपने टारगेट से पैसे की मांग करते हैं।

Fake Antivirus बिल्कुल असली Antivirus की तरह होता है बस फर्क इतना होता है कि असली Antivirus से आपको कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन Fake Antivirus के जरिए आप बहुत बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं।

Fake Antivirus में कुछ malicious program ऐड कर दिए जाते हैं और जब Antivirus आपके Computer में जाता है तब वह malicious program अपना काम करना शुरू कर देता है वह आपके डेटा को धीरे धीरे Block करना स्टार्ट कर देता है और आपके डेटा को अपने मालिक तक पहुंचाना शुरू कर देता है।

कभी-कभी आपने नोटिस किया होगा कि जब आप internet से कोई Software Download करते हैं और जब आप उसे इंस्टॉल करने लगते हैं तो उसके साथ एक या फिर दो Software अलग से इंस्टॉल हो जाते हैं जिसकी वजह से Computer की Speed स्लो हो जाती है।

Fake Antivirus कैसे काम करता है।

आपने कभी-कभी नोटिस किया होगा कि जब आप internet चलाते हैं तो आपको एक pop-up window दिखाई देता है और उस पर Antivirus का इमेज भी लगा होता है और उस पर लिखा होता है कि आपका सिस्टम खतरे में है।

आपके सिस्टम में कई तरह के वायरस आ चुकी है यदि आप उस वायरस को रिमूव करना चाहते हैं तो आप इस Antivirus को Download करके अपने Computer में इंस्टॉल कर सकते हैं और फिर आपके Computer से वायरस निकल सकता है।

असल में हैकरों द्वारा आपको फंसाने की यह एक चाल होती है इसका इस्तेमाल ज्यादातर हैकर लोग करते हैं और उस popup window को malvertising के जरिए आप तक पहुंचाया जाता है ताकि आप उस Antivirus को Download करके अपने Computer में इंस्टॉल कर सके।

कभी-कभी यह Fake Antivirus इतना खतरनाक हो सकते हैं कि आपके Computer में कुछ मालीशियस Software डाल देते हैं जिसकी वजह से आपका Computer Block हो जाता है और फिर उसे unBlock करने के लिए हैकर लोग आपसे पैसे की डिमांड करते हैं।

Fake Antivirus को कैसे पहचाना जा सकता है।

अब तो आप जान ही गए होंगे कि Fake Antivirus क्या है और यह किस तरह से काम करता है तो चलो अब जान लेते हैं कि फिर से Antivirus को कैसे पहचान सकते हैं यदी आपको Fake Antivirus के बारे में नहीं मालूम है।

तब तो आपको Fake Antivirus को पहचानने में थोड़ी मुश्किल हो सकती है यदि आपको Fake Antivirus के बारे में मालूम है तब आपको Fake Antivirus को पहचानने में थोड़ी भी मुश्किल नहीं होगी।

Fake Antivirus को पहचानने के लिए मैंने नीचे कुछ टिप्स दे रखे हैं जिनके जरिए आप यह पहचान सकते हैं कि कौन सा Fake Antivirus है और कौन सा असली Antivirus है।

1. internet की Speed कम हो जाना

Fake Antivirus की वजह से आपके internet की Speed भी कम हो जाती है Fake Antivirus आपके Computer में कुछ junk malware को इंस्टॉल कर देता है जिसकी वजह से internet की Speed कम हो जाती है।

यदि आपने internet से कोई Antivirus Download कर लिया है और Antivirus को Download करते ही आपके internet की Speed कम हो जाती है तो आप समझ लीजिए कि उस Antivirus की वजह से आपके internet की Speed स्लो हुई है।

2. Browser का रिडायरेक्ट होना

यदि आपके Computer में Fake Antivirus इंस्टॉल है तब आपको Browser की रीडायरेक्शन प्रॉब्लम देखने को मिल सकती है आपको वेब पेज रीडायरेक्शन भी देखने को मिल सकती है।

Fake Antivirus की वजह से Website रीडायरेक्शन की समस्या ज्यादा बढ़ जाती है आप किसी Website पर जाना चाहते हैं जैसे कि आप फेसबुक पर जाना चाहते हैं तो आप फेसबुक पर ना जाकर किसी और Website पर चले जाएंगे और वह Website पूरी तरह से Malware से भरी हुई होगी।

3. ज्यादा pop-up window

Fake Antivirus का इस्तेमाल करने से internet चलाते वक्त ज्यादा Pop up विंडो दिखाई देने लगते हैं जिसकी वजह से आपको इरिटेशन होने लगती है जिसकी वजह से आप अपना ध्यान खो बैठते हैं और किसी ऐसे Link पर क्लिक कर देते हैं जिस पर आपको नहीं क्लिक करना चाहिए था।

और जब गलती से किसी Link पर क्लिक हो जाता है तो आपके Computer में कोई अननोन फाइल Download हो जाती है और उस फाइल के जरिए आपके Computer को खतरा भी हो सकता है।

4. Browser का होम स्क्रीन चेंज हो जाना

यदि आपके Computer में कोई अननोन Software Download है तो उसे पहचानने का सबसे आसान तरीका है कि अपने वेब Browser का होमस्क्रीन चेक करें यदि आपके वेब Browser का होमस्क्रीन डिफॉल्ट से चेंज हो चुका है।

तो समझ लीजिए कि आपके Computer में कोई अननोन Software इंस्टॉल है और आपको उस Software को जल्द से जल्द Unistall करना चाहिए नहीं तो आप प्रॉब्लम में फंस सकते हैं।

5. Computer की Speed कम हो जाना

कुछ Antivirus की वजह से Computer की Speed भी कम हो जाती है यदि आपको लगता है कि आप जो भी Antivirus यूज करते हैं उसकी वजह से आपके Computer की Speed कम हो गई है तो जल्द से जल्द आपको उस Antivirus को Unistall कर देना चाहिए।

कभी-कभी Computer की Speed कम होने पर लोग अपने Computer को फॉर्मेट करवा देते हैं लेकिन उनको ऐसा नहीं करना चाहिए कुछ अन्य Software की वजह से भी Computer की Speed स्लो हो जाती है।

यदि आप अपने Computer की Speed को बनाए रखना चाहते हैं तो आपको रेगुलर बेसिस पर अपने Computer के ऐसे Software को हमेशा Unistall करके रखना चाहिए जिसको आप यूज़ नहीं करते हैं।

Fake Antivirus से कैसे बचा जा सकता है।

Fake Antivirus को पहचानने के लिए मैंने नीचे कुछ नियम दिए हुए हैं यदि आप नीचे दिए गए नियमों का सही से पालन करते हैं तो आप Fake Antivirus की पहचान काफी आसानी से कर सकते हैं और आप Fake एंटी वायरस से होने वाले खतरों से बच सकते हैं।

1. पॉपअप पंर कभी भी क्लिक न करे।

सबसे पहला तरीका है कि आपको कभी भी पॉपअप पर क्लिक नहीं करना चाहिए क्योंकि ज्यादातर पॉपअपविंडो में ही Malicious Software छुपे होते हैं यदि आप उन पॉपअपविंडो पर क्लिक करेंगे तो Malicious Software आपके Computer में ऑटोमेटिक इंस्टॉल हो जाते हैं।

जिसकी वजह से आपके काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है आपकी फाइल करप्ट भी हो सकती है या फिर वह Malicious Software आपके Computer को Block कर देगा

2. Computer की कमियों को ठीक करें।

आपको अपने Computer की कमियों को हमेशा ठीक करके रखना चाहिए क्योंकि कुछ ऐसे भी Software होते हैं जो आपके Computer की कमियों की वजह से आपके Computer में इंस्टॉल हो जाते हैं इसलिए आपको हमेशा अपने Computer को मेंटेन करके रखना चाहिए ताकि आपका Computer vulnerable न हो।

3. Firewall को हमेशा ओपन कर के रखे।

अब तो माइक्रोसॉफ्ट अपने ऑपरेटिंग सिस्टम में Firewall का भी फीचर देने लगा है firewall आपको दो तरह से सुरक्षा प्रदान करता है यह आपके नेटवर्क के इनकमिंग और आउटगोइंग ट्रैफिक पर नजर रखता है।

जिसकी वजह से internet से कोई भी अननोन फाइल Download नहीं हो पाती है यदि अननोन फाइल Download होती है तो यह है firewall उसे Block कर देता है और आप को सुरक्षित रखता है।

4. browser की चेतावनी पर हमेशा ध्यान दे।

यदि आप अपने Browser पर internet यूज करते हो और आपका Browser कोई चेतावनी आपको देता है तो उस पर हमेशा ध्यान देना चाहिए क्योंकि Browser भी आप को सुरक्षित रखने में काफी मदद रखता है इसलिए Browser की चेतावनी पर हमेशा ध्यान दें और हो सके तो Browser की चेतावनी को हमेशा फिक्स करें

5. हमेशा पेड Antivirus इस्तेमाल करे।

यदि आप internet ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो हमेशा पेड़ Antivirus का ही आपको इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि पेड Antivirus आपको काफी ज्यादा सुरक्षित रखती हैं फ्री Antivirus की अपेक्षा यदि आप फ्री का Antivirus इस्तेमाल करते हैं तो इस्तेमाल करना बंद कर दीजिए क्योंकि आपको नहीं पता फ्री Antivirus की वजह से भी आपके Computer को काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है यह फ्री Antivirus आपके Computer के डाटा को चुराती रहती हैं और फिर उसे बेच देती हैं

6. हमेशा ओरिजिनल Software इस्तेमाल करे।

यदि आप खुद को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो हमेशा ओरिजिनल Software का ही इस्तेमाल करना चाहिए फ्री के चक्कर में आपको किसी भी पायरेटेड Website से कोई भी Software नहीं Download करना चाहिए क्योंकि ऐसे में उस Software के जरिए आपके Computer में कुछ वायरस भी आ सकते हैं इसलिए आपको हमेशा ओरिजिनल Software इस्तेमाल करना चाहिए।

7. Antimalware Software को हमेशा अपडेट रखे।

यदि आप अपने Computer में Antimalware Software का इस्तेमाल करते हैं तो उससे उसे हमेशा अप टू डेट रखना चाहिए क्योंकि Antimalware को अपडेट करने से आपकी सिक्योरिटी पैचेस भी अपडेट हो जाती है।

8. Search engine पर हमेशा चेतावनी बरते।

यदि आप internet उपभोक्ता है तो सर्च इंजन पर हमेशा चेतावनी बरतनी चाहिए क्योंकि जितने भी ऑनलाइन क्राइम होते हैं वह internet के जरिए ही होते हैं और internet को चलाने के लिए सर्च इंजन का सबसे बड़ा योगदान होता है तो इसलिए हमेशा सर्च इंजन पर चेतावनी बरतनी चाहिए ताकि आप किसी भी खतरे में ना पढ़ सके

9. हमेशा URL को Address Bar में टाइप करें।

यदि आप internet पर कुछ सर्च करते हो तो आप जिस भी URL पर जाना चाहते हो उस URL को हमेशा Address Bar में टाइप करना चाहिए और फिर सर्च करना चाहिए। किसी भी अननोन सर्च बार का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि आप किसी अननोन सर्च बाढ़ का इस्तेमाल करते हैं तो आपको एक खतरे में भी डाल सकता है।

10. Internet का इस्तेमाल करते समय सावधानी रखें।

यदि आप internet का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो internet पर आपको हमेशा सावधान रहना चाहिए क्योंकि क्या पता कब आप हैकर की चपेट में आप आ सकते हैं internet का इस्तेमाल हमेशा सही कामों के लिए करें कभी भी internet का इस्तेमाल गलत कामों के लिए नहीं करें नहीं तो आप बहुत बड़े खतरे में पड़ सकते हैं।

11. किशी भी link पर क्लिक करने से पहले 100 बार सोचे।

यदि आप किसी Link पर क्लिक करना चाहते हैं तो उस Link पर क्लिक करने से पहले आपको कम से कम 100 बार जरूर सोचना चाहिए क्योंकि आपको यह नहीं पता कि वह Link कीस तरह का है किसी भी Link पर ना क्लिक करें जो आपको किसी सोशल मीडिया से मिला हो।

आपने देखा होगा कि आजकल WhatsApp पर बहुत सारे Link आते हैं जिस पर यह लिखा होता है कि इस Link पर क्लिक करते ही आपको 1000 पेटीएम कैश मिलेगा यदि आपको इस तरह का कोई भी Link मिलता है तो आपको उस Link पर नहीं क्लिक करना चाहिए ऐसे Link सिर्फ आप को फसाने के लिए होते हैं।

12. पाइरेटेड Website पर कभी भी विजिट न करे।

दोस्तों आपको कभी भी पायरेटेड Website पर कभी भी विजिट नहीं करना चाहिए क्योंकि साइबर क्रिमिनल ज्यादा करके पायरेटेड Website पर ही घात लगाकर बैठे हुए होते हैं यदि आप पायरेटेड Website से कोई भी फाइल Download करते हैं तो उस फाइल के जरिए मालीशियस Software भी Download हो जाते हैं और आपको तो यह पता ही है की यह मालीशियस Software कितने खतरनाक होते हैं

13. अननोन Website को Block कर दे।

हमेशा अननोन Website को Block करके रखें यदि आपको लगता है कि कोई Website से आपको खतरा है तो उस Website को तुरंत Block कर देना चाहिए नहीं तो उस Website से आपको सच में खतरा हो सकता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में मैंने आपको FAKE Antivirus के बारे में बताया है और मुझे उम्मीद है कि आप लोगो को यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा यदि आपको कोई सवाल पूछना है तो आप हमसे कमेंट कर के पूछ सकते है।

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे आप अपनो दोस्तो और अपने परिजनों के साथ भी शेयर कर सकते है ताकि आपके दोस्त और आपके परिजनों को भी FAKE Antivirus के बारे में पता चल सके।

यदि आपको लगता है कि किसी टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लिखा जाना चाहिए तो आप हमें उस टॉपिक का नाम कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज सकते हैं और जल्द से जल्द हम उस टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लिखने की पूरी कोशिश करेंगे।

इन्हें भी पड़े

अपनी प्रतिक्रिया दें।

अपनी टिप्पणी यहाँ दर्ज करें ...
अपना नाम यहा दर्ज करें...