MALVERTISING क्या है और MALVERTISING से किस तरह का खतरा हो सकता है

Malwaretising kya hai

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे MALVERTISING के बारे में कि MALVERTISING क्या होता है और इसका इस्तेमाल किस तरह से किया जाता है और यह आपके कंप्यूटर को किस तरह से नुकसान पहुंचा सकता है इन सभी इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए बने रहिए इस आर्टिकल के साथ।

 जब आप इंटरनेट यूज करते हो तो कभी आपने देखा होगा कि आपको एक स्क्रीन दिखाई देता है या फिर नया विंडो दिखाई देता है जिस पर लिखा होता है कि आपका Antivirus खत्म हो चुका है जिसकी वजह से आपके कंप्यूटर या लैपटॉप में वायरस आ चुका है और उस वायरस को रिमूव करने के लिए आपको यह Antivirus डाउनलोड करना पड़ेगा नहीं तो आपका कंप्यूटर खराब हो सकता है।

और कभी-कभी तो ब्राउजिंग करते वक्त फोन अचानक से वाइब्रेट होने लगता है जिसकी वजह से लोग घबरा जाते हैं कि आखिर फोन को क्या हो गया कहीं ब्लास्ट तो नहीं हो जाएगा दोस्तों आपको बता दें कि यह सब MALVERTISING की वजह से होता है

यदि आप Malvertising के बारे में नहीं जानते हैं तब तो आप बहुत बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं क्योंकि MALVERTISING एक ऐसा तरीका है जिससे आपके कंप्यूटर में मैलवेयर को डाला जाता है Malvertising के जरिए सिर्फ कंप्यूटर में नहीं में ही नहीं बल्कि आपके फोन में भी मैलवेयर को डाला जा सकता है

MALVERTISING क्या है।

Malvertising एक ऐसा तरीका है जिसके द्वारा Malware को फैलाया जाता है Malvertising की वजह से Malware को इंटरनेट के जरिए लोगों तक पहुंचाया जाता है और फिर उन्हें एक पॉपअप विंडो दिखाया जाता है और उस पॉपअप विंडो पर कुछ ऐसी चीजें लिखी होती है जिससे आप मजबूर हो जाते हैं उस पापअप पर क्लिक करने के लिए।

Malvertising एडवरटाइजिंग का ही एक रूप है बस फर्क इतना है कि Advertising के जरिए आपको कोई खतरा नहीं होता परंतु Malvertising के जरिए आप को खतरा हो सकता है क्योंकि Malvertising के जरिए आपके कंप्यूटर या फिर लैपटॉप में Malware आ सकते हैं जिसकी वजह से आपका कंप्यूटर खराब भी हो सकता है।

जब कभी आप किसी Website पर जाते हो तभी कोई Website पर पॉपअप विंडो ओपन हो जाता है जिस पर यह लिखा होता है आपके कंप्यूटर में बहुत सारा वायरस है यदि आप उस वायरस को रिमूव करना चाहते हैं तो आप इस Antivirus को डाउनलोड कर सकते हैं।

और यदि आपको इसके बारे में नहीं पता है तब तो आप उस Antivirus को डाउनलोड कर ही लेंगे और जिससे आप खतरे में पड़ जाएंगे क्योंकि असल में उसी Antivirus में ही वायरस छुपा होता है और यह सब आपके साथ किया जाता है क्योंकि आप उस Antivirus को डाउनलोड कर सके जिससे कि आपके कंप्यूटर में Malware जा सके 

चलो Malvertising को एक सिंपल भाषा में समझते हैं आपने Google AdSense का नाम तो सुना ही होगा और यह भी सुना होगा कि गूगल ऐडसेंस का क्या काम है Google AdSense के द्वारा लोगों को Ad दिखाए जाते हैं और इसी प्रकार Malvertising के जरिए लोगों को मालवेयर दिखाया जाता है।

MALVERTISING किस तरह से काम करता है।

अब तो आप लोग जाने गए होंगे कि Malvertising क्या है तो अब जानने की बारी है कि आखिर माल्वर्टाइजिंग काम किस तरह से करता है और किस तरह से Malvertising के जरिए आपके कंप्यूटर या फिर मोबाइल में malware को डाला जाता है।

Malvertising का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले कुछ Ad की जरूरत पड़ती है और फिर उस Ad में कुछ Malicious scripts ऐड की जाती है ताकि उस Ad पर क्लिक करने के बाद उस Script पर भी क्लिक हो जाए और आपके कंप्यूटर में malware चला जाए।

कभी कभी आपने देखा होगा कि जब आप किसी ऐड पर क्लिक करते हो तो उस Ad के ऊपर क्लिक होने के बाद  कोई दूसरा पॉपअप ओपन हो जाता है और उसपे लिखा होता है की आपके कंप्यूटर में बहुत सारा वायरस virus है इस virus को हटाने के लिए इस फाइल को डाउनलोड करे और जब आप उसपर क्लिक करते हो तो आप किशी दूसरी Website पर चले जाते हो यदि ऐसा कभी भी आपके साथ होता है तो समझ लीजिए आप Malvertising की चपेट में आ सकते हैं।

Malvertising की कुछ Website भी हैं जिनके जरिए मैलवेयर को फैलाया जाता है जैसे गूगल अपने यूजर को ऐड दिखाने के लिए ऐडसेंस का यूज करता है वैसे ही दूसरी Website मैलवेयर दिखाने के लिए Malvertising का इस्तेमाल करती हैं।

MALVERTISING से किस तरह से बचा जा सकता है।

1. यदि आप Malvertising से बचना चाहते हैं तो आपको इंटरनेट पर हर वक्त सतर्क रहना पड़ेगा तभी जाकर आप Malvertising से बच सकते हैं Malvertising से बचने के लिए आपको नीचे दिए गए नियमों का पालन करना होगा यदि आप नीचे दिए गए नियमों का सही से पालन करते हैं तो आप Malvertising से बच सकते हैं।

2. Malvertising से बचने के लिए आपको हमेशा एंटीमैलवेयर का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि एंटीमैलवेयर की वजह से आपके कंप्यूटर में मैलवेयर नहीं आ पाता है जिसकी वजह से आपकी पर्सनल इंफॉर्मेशन सेफ रहती है और आपको किसी भी तरह का खतरा नहीं रहता है।

3. यदि आप Malvertising से बचना चाहते हैं तो आपको पाईरेटेड Website पर नहीं जाना चाहिए क्योंकि पाईरेटेड Website पर Malvertising का काफी ज्यादा खतरा रहता है।

4. Malvertising से बचने के लिए आपको हमेशा ट्रस्टेड Website पर ही जाना चाहिए आपको किसी भी तरह का अननोन फाइल नहीं डाउनलोड करना चाहिए।

5. आपको हमेशा पेड software इस्तेमाल करना चाहिए फ्री के चक्कर में आपको किसी ऐसी Website पर नहीं जाना चाहिए जहां पर Malvertising काफी ज्यादा की जाती है।

MALVERTISING से किस तरह का खतरा हो सकता है।

Malvertising के जरिए आप को बहुत बड़ा खतरा हो सकता है क्योंकि जैसा कि आप सभी जानते हैं Malvertising से मैलवेयर को फैलाया जाता है और मालवेयर एक ऐसा software होता है जिसके जरिए आपकी personal information को चुराया जाता है। और फिर आपकी इंफॉर्मेशन को बेच दिया जाता है।

इसकी वजह से आपके फोन नंबर पर और आपके ईमेल एड्रेस पर तरह-तरह के Promotional मैसेज आने लगते हैं और यह सब होता है आपकी information की वजह से यदि Promotional मैसेज भेजने वालों के पास आपका इंफॉर्मेशन नहीं होता तो वो आपको मैसेज भेज ही नहीं सकते थे

Malvertising की वजह से आपके कंप्यूटर में एक ऐसा malware डाल दिया जाता है कि  ब्राउजिंग करते वक्त रीडायरेक्शन की प्रॉब्लम आने लगती है जब कभी आप किसी Website पर जाना चाहते हो तो उस Website पर ना जाकर आप किसी दूसरी Website पर चले जाते हैं और इसी को रीडायरेक्ट कहते हैं।

और आपको नहीं पता है कि आप किस Website पर रीडायरेक्ट हुए हैं तो आप इससे खतरे में पड़ सकते हैं हो सकता है आप किसी ऐसे Website पर रीडायरेक्ट हो गए हैं जहां पर मालवेयर भरे पड़े हैं और आपके कंप्यूटर में मैलवेयर आने की काफी ज्यादा चांसेस हो जाते हैं।

निष्कर्ष 

इस आर्टिकल में मैंने आपको MALVERTISING के बारे में बताया है और मुझे उम्मीद है कि आप लोगो को यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा यदि आपको कोई सवाल पूछना है तो आप हमसे कमेंट कर के पूछ सकते है।

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे आप अपनो दोस्तो और अपने परिजनों के साथ भी शेयर कर सकते है ताकि आपके दोस्त और आपके परिजनों को भी MALVERTISING के बारे में पता चल सके।

यदि आपको लगता है कि किसी टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लिखा जाना चाहिए तो आप हमें उस टॉपिक का नाम कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज सकते हैं और जल्द से जल्द हम उस टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लिखने की पूरी कोशिश करेंगे

इन्हें भी पड़े

अपनी प्रतिक्रिया दें।

अपनी टिप्पणी यहाँ दर्ज करें ...
अपना नाम यहा दर्ज करें...